हाल अपना ….

घोटालेबाज़ होगा पुरस्कृत….
December 15, 2017
जलवा मेरी ईमानदारी का…
December 26, 2017
Show all

हाल अपना ….

पूछते तो बताती मैं हाल अपना  ।
फिर भूल जाते तुम सवाल अपना ।।
तुम भी बेवफा हो जाते किसी रोज़ ।
चला जाता दिल से मलाल अपना ।।
नाकामियों के गुनहगार खुद तुम हो ।
गिरा दो आशंकाओं का जाल अपना ।।
सब्र सबकुछ देगा अगर जान बचा लो,
बात बात पर ना करो मुँह लाल अपना ।
खुदा की मेहरबानी है आज फिर भी।
जेहन में हूँ, कुछ तो है कमाल अपना ।।

शालिनी श्रीवास्तव
पूर्व रिसर्च एसोसिएट तथा
मुक्त लेखिका
दिनांक :21 दिसंबर 2017
समय: 8:40 pm

Shalini Srivastava
Shalini Srivastava
I am a writer ,I write because writing is the thing I do best. I write because words live on me and inside of me. I write because I want to write.I write because I feel more. I write because I have got something to say. I write therefore I am a writer.

Share & Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *