भारत जागृति

भारत जागृति एक संकल्पना है, जिसका आधार है मानव कल्याण सम्बंधित विचार तथा मनुष्य शक्ति जागरूक करने का एक सफल प्रयत्न। आज जिस युग में हम जी रहे है, उसमें निश्चित तौर पर मानवीय मूल्यों का ह्रास तथा नैतिकता का पतन हुआ है । मनुष्य अपने दायरे को संकुचित कर व्यक्तिवाद की तरफ बढ़ रहा है। प्रगति, मानव के विकास तथा उत्थान के लिए नितान्त आवश्यक है मगर इस विकास के लिए देश, समाज तथा प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्य को हम नहीं भूल सकते । हम सबको इस धरती तथा प्रकृति के प्रति कृतज्ञ होना चाहिए । मानव जीवन को सिर्फ निजी स्वार्थ के अंतर्गत रखकर नहीं देखना चाहिए और सिर्फ आर्थिक प्रगति हमारा लक्ष्य नहीं होना चाहिए । आज संपूर्ण विश्व में तमाम तरह की समस्याएं है और उन समस्याओं के लिए हम किसी ना किसी को जिम्मेदार मानते है । अतः किसी और को जिम्मेदार बताकर हम अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकते, क्योंकि कहीं ना कहीं समस्याओं के लिए प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से हम सब जिम्मेदार होते है। इसलिए हम सबको मानव कल्याण, देश, समाज तथा विश्व को बेहतर बनाने में अपना योगदान अवश्य देना चाहिए और हम दे भी सकते है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर भारत जागृति प्लेटफॉर्म को बनाया गया है। भारत जागृति को 20 फरवरी 2004 को शुरु किया गया था। लेकिन कई कारणों से यह आगे बढ़ नहीं सका और व्यक्ति विशेष तक ही सिमट कर रह गया । लेकिन अब पुनः इसे पुनर्जीवित करने का संकल्प लिया गया है तथा लोगो को स्वेच्छा से इस प्लेटफॉर्म में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है ।

संस्थापक का नाम :-

शालिनी श्रीवास्तव


भारत जागृति के कार्य:-


• देश, देश प्रेम और देश के प्रति अपने कर्तव्यों के लिए हमेशा सजग रहना और दूसरों को भी तत्पर बनाना ।
• ग़रीबो- बेसहारों की मदद अपनी क्षमता के अनुसार करना ।
• लोगो को जहाँ तक संभव हो जागरूक करना ।
• समाज में व्याप्त बुराइयों जैसे भ्रष्टाचार, दहेजप्रथा, कदाचार आदि में खुद को संलिप्त न होने देना।
• सभ्यता, संस्कृति तथा आध्यात्म को बनाए रखने के लिए यथासंभव प्रयासरत रहना।
• जातिवाद, धार्मिक-अंधता से दूर रहना और आसपास के लोगो को भी इस दिशा में प्रेरित करना ।
• शिक्षा,शिक्षित एवं शिक्षक को समुचित न्याय और सम्मान देना।
• बेरोजगारी दूर करने का अपने स्तर पर विकल्प ढूंढना और कोई भी युवा बेरोजगार ना रहे इसके लिए प्रयासरत रहना ।
• जागरूकता, शिक्षा तथा ज्ञान के जरिये मनुष्य को बौद्धिक, आध्यात्मिक, चारित्रिक तथा नैतिक पक्षों को मजबूत करने की कोशिश करना ।
• पर्यावरण , प्रकृति तथा जीव जंतुओं को बचाने के लिए अपने स्तर से लोगो को जागरूक करना।
• फैलते अविश्वास, टूटते घर-परिवार तथा व्याप्त मानवीय भय को यथासंभव दूर कर लोगो को आपस में मधुर संबंध बनाये रखने के लिए प्रेरित करना ।
• मानवता को बढ़ावा देना।
• देश के किसानों , अनाथ-गरीब बच्चों तथा लड़कियों को यथासंभव मदद करना ताकि उनका समग्र विकास हो तथा वे किसी भी तरह से उपेक्षित या वंचित ना रहे।

भारत जागृति प्लेटफार्म में शामिल होने की शर्ते:-


कोई भी व्यक्ति इस विचारधारा से जुड़ सकता है इसमें उम्र का कोई बंधन नहीं है । जो कोई भी इस प्लेटफार्म को आगे बढ़ाने की इच्छा रखता हो, उसे प्रतिदिन कम से कम अपने पास एक रुपया जमा करना होगा । अपनी क्षमता के अनुसार कोई व्यक्ति ज्यादा पैसा भी जमा कर सकता है । और महीने के अंत में वह इस पैसे का इस्तेमाल किसी गरीब बच्चे या व्यक्ति की शिक्षा या स्वास्थ सम्बन्धी अन्य जरुरी मदद के रूप में कर सकता है। या फिर देश के प्रगति तथा मानव कल्याण के लिए कर सकता है । ऐसा करके हम धन संग्रहण करते रहने की बढ़ती प्रवृति से तो बचेंगे ही साथ ही दूसरों की मदद करके हम समाज को और बेहतर बना सकेंगे । आपकी थोड़ी सी मदद आपके भीतर मानवीय गुणों को सिंचित करेगी, जिससे आगे आने वाली पीढ़ी उसका अनुसरण कर खुशहाल समाज का निर्माण करने में अपना सहयोग देगी ।
इस पृथ्वी पर उपलब्ध संसाधनों का उपभोग करने का हक़ सभी मानव जाति का है । ईश्वर ने इसमें कोई भेद नहीं किया । जीवन और मरण की निश्चित समय सीमा में हम अपना समय विलासिता और धन संचयन में लगा देते है । अमीरी-गरीबी की बढ़ती खाई और बढ़ती असमानता के बीच अगर हमारी थोड़ी सी मदद से वंचितों को दो वक्त की रोटी, शिक्षा तथा रोजगार उपलब्ध हो जाये तो हमे अवश्य आगे आना चाहिए । जरुरी नहीं की आप किसी की मदद पैसे के जरिये ही करे | आप चाहे तो किसी एक व्यक्ति को सक्षम बनाकर भी आप अपना कर्तव्य पूरा कर सकते है । लोगों को मानसिक रूप से सबल बनाना ताकि व्यक्ति अपना रास्ता खुद ढूंढ ले, यह कार्य भी समाज सेवा है ।
रोज़ एक या दो रुपये इकठ्ठा कर महीने के अंत में उससे किसी वंचित की मदद कर देने से आपमें तथा बच्चों में मदद की भावना जागृत हो सकेगी । तथा आपको यह अंदाज़ा लग पायेगा कि आपसे गरीब लोग कैसे व् किस हाल में जीवन यापन कर रहे है । तब आपको संसाधनों की कमी के लिए ईश्वर से शिकायत करने की जरुरत नहीं होगी बल्कि मानसिक रूप से एक अलग प्रकार का संतोष का आभास होगा।
आप चाहे तो अपने आस-पास के किसी एक गरीब बच्चे की स्कूल की फीस या पढ़ने-लिखने की सामग्री उपलब्ध कराकर इस मुहीम को आगे बढ़ा सकते है।
कोई बच्चा जो भारत जागृति का हिस्सा हो या ना भी हो अगर पैसा जमा करने के बाद गरीबों की मदद करने में खुद को असमर्थ पाता है तो वह इसमें अपने माता -पिता, शिक्षक या भारत जागृति प्लेटफार्म की मदद ले सकता है ।
कोई व्यक्ति इस प्लेटफार्म का हिस्सा बने बिना इस प्लेटफार्म के जरिये ग़रीबो की मदद करना चाहता है तो उसका भी स्वागत है।
इस प्लेटफार्म में शामिल होने वाले सभी सदस्यों की दूसरी शर्त यह है कि जो कोई भी इस विचारधारा से जुड़ता है वह अपने निजी क्षेत्र या कार्यस्थल में व्याप्त बुराइयों को दूर करने का प्रयास करेगा तथा भारत जागृति में उल्लेखित कर्तव्यों को आगे बढ़ाता रहेगा ताकि सभी क्षेत्रों में व्यपाक सुधार का कार्य संभव हो सके।
अगर आपको लगता है कि आप इस प्लेटफार्म में जुड़कर देश या समाज की यथासंभव मदद या विचारधारा को आगे ले जाना चाहते है तो इस वेबसाईट के होम पेज पर कांटेक्ट मी ऑप्शन में, 'लेट्स कनेक्ट विद मी' या पब्लिक मंच के जरिये मुझसे जुड़ सकते है । यहाँ आप अपना नाम, पता, ईमेल तथा सब्जेक्ट में भारत जागृति के साथ अपना सन्देश लिख कर भेज दें | यहाँ आप देश और समाज के सुधार के लिए कोई विचार या कोई सुझाव भी दे सकते है । आप चाहे तो अपनी रचनाये या प्रेरित करने वाली कहानी या कोई सृजनात्मक लेख भी मुझसे साझा कर सकते है । इस विचारधारा तथा समाज को और अधिक बेहतर बनाने तथा देश को सकारात्मक दिशा देने के लिए आप सभी का सहयोग जरुरी है ।


भविष्य के लिए कुछ बातें:-


मुझे यक़ीन है कि भविष्य में इस विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए एक संगठन की आवश्यकता होगी । आशा करती हूं कि इस संगठन का एक कार्यालय स्थापित किया जायेगा, जहाँ इसमें जुड़ रहे व्यक्तियों के लिए दिशानिर्देश जारी करने के साथ-साथ उन्हें प्रेरित करते रहने का काम किया जायेगा ताकि वह अपने लक्ष्य को पूरा कर सके | मासिक बैठकों के जरिये आ रही परेशानियों का यथासंभव निवारण करने की कोशिश की जायेगी तथा लोगो की दिक्कतों को समझ कर मानव कल्याण की दिशा में ठोस कदम उठाया जायगा और भारत जागृति से जुड़े व्यक्तियों के सुझावों पर भी अमल किया जायेगा । इसके जरिये समाज में सकारात्मक बदलाव की योजना तैयार की जायेगी ।
लोगों द्वारा दिए गए तथा भारत जागृति के फंड का इस्तेमाल एक ऐसे संस्थान के निर्माण में किया जायेगा, जहाँ समाज के सभी वंचित या उपेक्षित, अनाथ व्यक्ति आकार रह सके साथ ही वही उनकी शिक्षा तथा रोजगार की व्यवस्था सुनिश्चित की जा सके ।